कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

मोदी के संसदीय क्षेत्र में बनारस छोड़ो के लगे नारे, उ.प्र और बिहार एकता मंच ने किया गुजरात में हो रहे पलायन का कड़ा विरोध

यह बात साफ़ नज़र आ रही है कि बनारस में मोदी के ख़िलाफ़ हो रहे विरोध और गुजरात में पलायन की घटनाओं का असर चुनावों पर पड़ सकता है।

गुजरात में उत्तर-प्रदेश और बिहार के लोगों पर हो रहे हमले और पलायन का असर अब प्रधानमंत्री मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस में भी देखा जा रहा है। बनारस से प्रधानमंत्री का रिश्ता काफी मज़बूत माना जाता है, लेकिन गुजरात में पलायन के बवाल के चलते बनारस में प्रधानमंत्री मोदी का विरोध किया जाने लगा है। पत्रिका की रिपोर्ट के अनुसार बनारस में ऐसे पोस्टर लगाए जा रहे हैं, जिसमें गुजराती नरेंद्र मोदी बनारस छोड़ो लिखा गया हैं। यह पोस्टर उ.प्र और बिहार एकता मंच द्वारा लगाए गए हैं। पोस्टरों में शहर में रहने वाले गुजराती और मराठी लोगों को एक हफ्ते के भीतर शहर छोड़ कर जाने की चेतावनी दी गई है।

ज्ञात हो कि गुजरात में मासूम बच्ची के साथ बलात्कार की घटना के बाद से गुजरात में बिहार और उत्तर-प्रदेश के लोगों पर हमले होने लगे हैं। इसके चलते हज़ारों की संख्या में बिहार और उत्तर-प्रदेश के प्रवासी मजदूर गुजरात से पलायन कर रहे हैं, जिसे देखते हुए बनारस में गुस्सा बढ़ रहा है। पलायन को लेकर शहर में पोस्टर द्वारा लोगों ने मोदी को घेरना शुरू कर दिया है।

उ.प्र और बिहार एकता मंच के प्रदर्शन के दौरान उनके द्वारा इस्तेमाल किए गए पोस्टरों में लिखा गया कि गुजरात और महाराष्ट्र में उत्तर भारतीयों पर हो रही हिंसा के ख़िलाफ़ जंग-ए-ऐलान किया गया है। प्रधानमंत्री मोदी से बनारस छोड़ने को कहा गया और साथ ही शहर में रह रहे मराठी और गुजराती लोगों को एक हफ्ते के भीतर शहर छोड़कर जाने की चेतावनी भी दी गई है। वहीं दूसरी तरफ पोस्टर विरोध को लेकर भाजपा में हड़कंप का माहौल है।

इस सब के बीच 2019 के लोकसभा चुनाव में संसदीय सीट को लेकर भी अटकलें जारी है। भाजपा के नेताओं का दावा है कि प्रधानमंत्री एक बार फिर बनारस से ही चुनाव लड़ेगे। लेकिन प्रधानमंत्री मोदी की तरफ से अब तक यह बात स्पष्ट नहीं की गई है कि वे किस सीट से चुनाव लड़ेंगे। लेकिन यह बात साफ़ नज़र आ रही है कि बनारस में मोदी के ख़िलाफ़ हो रहे विरोध और गुजरात में पलायन की घटनाओं का असर चुनावों पर पड़ सकता है।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+