कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

प्रियंका गांधी ने पहली आधिकारिक बैठक में लिया आरएसएस-भाजपा की विचारधारा से लड़ने का संकल्प

आगामी 11 फरवरी को प्रियंका गांधी लखनऊ दौरे पर जा सकती हैं.

पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (AICC)  की महासचिव के रूप में कार्यभार संभालने के बाद प्रियंका गांधी ने बीते गुरुवार, 7 फरवरी को अपनी पहली आधिकारिक बैठक में भाग लिया.

हिंदुस्तान टाइम्स की ख़बर के अनुसार प्रियंका गांधी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की विचारधारा से लड़ने का संकल्प लिया है.

रिपोर्ट के अनुसार, बैठक में मौजूद तीन कांग्रेसी नेताओं के मुताबिक प्रियंका गांधी ने कहा कि भगवा पार्टी और उसके मूल संगठन की “विचारधारा और विचार प्रक्रिया” का मुकाबला करने की जरूरत है. इसके अलावा, प्रियंका गांधी ने कथित तौर पर अपने सहयोगियों को आश्वासन दिया कि भले ही वह नई और अनुभवहीन हैं, लेकिन वह अपना सर्वश्रेष्ठ देंगी.

बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने  प्रियंका, और पश्चिमी उत्तर-प्रदेश के पार्टी प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया को दबाव महसूस न करने की सलाह दी.

बैठक के बारे में संवाददाताओं से बात करते हुए, कांग्रेस के महासचिव प्रभारी केके वेणुगोपाल ने कहा कि  हमने उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया, अभियान की रणनीति और गठबंधनों पर चर्चा की है. हमारे सभी महासचिवों और प्रभारियों ने अपने-अपने राज्यों के बारे में अपने विचार दिए हैं. अंत में, हमने एक अल्टीमेटम दिया है कि उम्मीदवारों का चयन इसी महीने पूरा हो जाना चाहिए.

आगामी 11 फरवरी को प्रियंका, राहुल गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया लखनऊ दौरे पर आ सकते हैं.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+