कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

पर्दे के पीछे से राजनीति करता है RSS, स्वयं को राजनीतिक दल घोषित करें संघः अशोक गहलोत

अशोक गहलोत ने कहा, "आज आरएसएस के लोग जिस प्रकार से पीछे रहकर बीजेपी का समर्थन कर रहे हैं. एक प्रकार से सत्ता का सुख भोग रहे हैं."

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर प्रहार करते हुए शुक्रवार को यहां कहा कि संघ के लोग पर्दे के पीछे से राजनीति कर रहे हैं, भाजपा का समर्थन कर रहे हैं.

गहलोत ने यहां मीडिया से कहा,’ आज आरएसएस के लोग जिस प्रकार से पीछे रहकर राजनीति कर रहे हैं, बीजेपी का समर्थन कर रहे हैं … एक प्रकार से सत्ता का सुख भोग रहे हैं, तो अच्छा होगा कि आरएसएस अपने आप को राजनैतिक दल घोषित कर दे.’

गहलोत ने कहा,‘’उनको खुद को आगे आकर मेरी सलाह को बहुत गंभीरता से लेना चाहिए और उसके ऊपर विचार करना चाहिए.’

मुख्यमंत्री ने कहा,’ जब गांधीजी की हत्या हुई तो आरएसएस पर प्रतिबंध लगा. इन्होंने सरदार पटेल को लिखकर दिया था कि हम भविष्य में कभी राजनीति में भाग नहीं लेंगे. हम सांस्कृतिक संगठन के रूप में काम करेंगे. लेकिन आरएसएस आज किस रूप में बढ़-चढ़कर मैदान में उतरी है … लोगों को गुमराह कर रहे हैं, अफवाहें फैलाते हैं.’

उन्होंने कहा,‘’मैं आरएसएस के लोगों को कहना चाहूंगा कि हिंदुत्व और सांस्कृतिक संगठन के नाम पर लोगों को भ्रमित करने के बजाय राजनीति में खुलकर आ जाएं. छिपकर वार और छिपकर भाजपा को सहयोग करने की जगह भाजपा का अपने साथ विलय कर लें और अपने आपको राजनैतिक दल घोषित कर दें.’

उन्होंने कहा,’ आरएसएस फ्रंटफुट पर राजनीति करे.”

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+