कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

भाकपा ने पूछा, मोदी सरकार ने महात्मा गांधी की बड़ी प्रतिमा क्यों नहीं लगाई?

रेड्डी ने कहा, ‘‘भले वे कांग्रेस से उन्हें ‘छीनने’ की कोशिश करें, वह (पटेल) भाजपा या संघ परिवार के नेता कभी नहीं हो सकते हैं।"

दिग्गज कम्युनिस्ट नेता सुरवरम सुधाकर रेड्डी ने सवाल किया कि भाजपा ने महात्मा गांधी की कोई ज्यादा बड़ी प्रतिमा क्यों नहीं बनाई है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को सरदार वल्लभभाई पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा को राष्ट्र को समर्पित किया है। रेड्डी ने कहा कि पटेल के लिए बनाये गये स्मारक पर उन्हें कोई आपत्ति नहीं है लेकिन आश्चर्य की बात यह है कि गुजरात में पैदा हुए देश के राष्ट्रपिता के लिए कोई बड़ी प्रतिमा बनाने का विचार क्यों नहीं किया गया।

भाकपा महासचिव ने आरोप लगाया कि भाजपा महात्मा गांधी की धर्मनिरपेक्षता पसंद नहीं करते हैं, यही कारण है कि उन्होंने उनकी प्रतिमा बनाने पर विचार नहीं किया। इसके बजाय वे पटेल के लिए गये जिनके पास दक्षिणपंथी विचार थे। रेड्डी ने यह भी आरोप लगाया कि भाजपा पटेल की विरासत ‘‘हड़पने’’ का प्रयास कर रही है। उन्होंने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा,‘‘हमें सरदार पटेल की प्रतिमा को लेकर कोई आपत्ति नहीं हैं। उनके (पटेल के) लिए पूरे सम्मान के साथ, हमारा मानना है कि महात्मा गांधी भारतीय राजनीति के भारतीय लोगों के सबसे कद्दावर नेता हैं वह राष्ट्र पिता हैं।’’

उन्होंने कहा,‘‘महात्मा गांधी की प्रतिमा और बड़ी होनी चाहिए, वह किसी और की तुलना में उच्चतम स्तर के नेता हैं।’’ उन्होंने रेखांकित किया कि गांधी की हत्या के बाद पटेल ने कुछ समय के लिए आरएसएस पर प्रतिबंध लगा दिया था। रेड्डी ने कहा, ‘‘भले वे कांग्रेस से उन्हें ‘छीनने’ की कोशिश करें, वह (पटेल) भाजपा या संघ परिवार के नेता कभी नहीं हो सकते हैं।’’

न्यूज़सेंट्रल24x7 को योगदान दें और सत्ता में बैठे लोगों को जवाबदेह बनाने में हमारी मदद करें
You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+