कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

सबरीमला प्रदर्शन: पुलिस ने 266 लोगों को किया गिरफ़्तार, 334 लोग एहतियातन हिरासत में

बिंदू और कनकदुर्गा दो महिलाओं ने बुधवार को सबरीमला मंदिर में भगवान अयप्पा के दर्शन किए थे.

सबरीमला मंदिर में रजस्वला उम्र की दो महिलाओं के प्रवेश करने के बाद पिछले दो दिनों में दक्षिणपंथी समूहों के हिंसक प्रदर्शनों के सिलसिले में अभी तक 266 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है. पुलिस ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी.

पुलिस ने बताया कि 334 लोगों के एक समूह को एहतियातन हिरासत में लिया गया. उन्होंने बताया कि हिंदू संगठनों की हड़ताल के कारण राज्य में हुई व्यापक हिंसा के बाद पुलिस ने हिंसक प्रदर्शनों में शामिल लोगों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने के लिए विशेष अभियान ‘ऑपरेशन ब्रोकन विंडो’ चलाया.

पुलिस ने एक विज्ञप्ति में बताया कि विशेष शाखा हिंसा में शामिल लोगों की सूची तैयार करेगी और उसे आगे की कार्रवाई के लिए जिला पुलिस प्रमुखों को सौंपेगी. विज्ञप्ति में बताया गया है कि हिंसा के दोषियों की एक फ़ोटो एलबम भी तैयार की जाएगी. हिंसा में शामिल आंदोलनकारियों को गिरफ़्तार करने के लिए विशेष दल भी गठित किए जाएंगे.

इसमें कहा गया है कि संदिग्धों के मोबाइल फोन जब्त किए जाएंगे और उन्हें डिजिटल जांच के लिए भेजा जाएगा. उनके घरों पर हथियारों का पता लगाने के लिए छापे भी मारे जाएंगे. विज्ञप्ति के अनुसार सोशल मीडिया पर कथित घृणा अभियान में शामिल लोगों के ख़िलाफ़ मामले भी दर्ज किए जाएंगे.

राज्य में उस दिन से उग्र प्रदर्शन हो रहे हैं जब दो महिलाएं बिंदू और कनकदुर्गा ने बुधवार को तड़के सबरीमला मंदिर में भगवान अयप्पा के दर्शन किए. विभिन्न हिंदुत्व समर्थक समूहों के एक संगठन सबरीमला कर्म समिति और अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद द्वारा बुलाई हड़ताल बृहस्पतिवार को हिंसक प्रदर्शन में बदल गई.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+