कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

बापू की हत्या करने वाले व्यक्ति को देशभक्त बताते हैं BJP उम्मीदवार, ऐसी राजनीति से पूरा देश निराश: सचिन पायलट

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने अपने एक बयान में नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया है.

पश्चिम बंगाल में हिंसा व नाथूराम गोडसे पर प्रज्ञा ठाकुर के बयान को लेकर भाजपा पर निशाना साधते हुए कांग्रेस ने शुक्रवार को कहा कि सत्ताधारी पार्टी की राजनीति से समूचा देश निराश हुआ है.

प्रदेश के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि पहली बार निर्वाचन आयोग जैसी संवैधानिक संस्था को इतने सवालों का सामना करना पड़ रहा है.

उन्होंने कहा,‘पिछले कुछ दिनों में जिस प्रकार की राजनीति का परिचय सत्ताधारी दल ने दिया है उससे न केवल कांग्रेस व अन्य राजनीतिक पार्टियों बल्कि समूचे देश में एक निराशा का वातावरण बना है.’ भोपाल से भाजपा प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर के बयान को चौंकाने वाला बताते हुए पायलट ने कहा,‘‘राष्ट्रपिता गांधी की हत्या करने वाले व्यक्ति को देशभक्त बताने का दुस्साहस करने वाले व्यक्ति को भाजपा के किसी बड़े नेता ने न तो टोका और न ही रोका. न ही बयान का खंडन किया न उनको पार्टी से बर्खास्त करने की मांग की है. सिर्फ पार्टी उनके बयान से अलग हो जाए इतना काफी नहीं है.’’

उल्लेखनीय है कि ठाकुर ने अपने एक बयान में गोडसे को देशभक्त बताया है.

पायलट ने कहा- मतदान के छह चरणों का जो अब तक फीडबैक आया है उसमें भाजपा हर चरण में पिछड़ रही है. प्रधानमंत्री मोदी, अमित शाह व भाजपा के अन्य नेताओं के बयान लगातार आ रहे हैं उनसे अंदाजा लग जाता है कि उनमें बौखलाहट है.

पश्चिम बंगाल में हालिया घटनाक्रम पर पायलट ने कहा,‘‘ जो तथ्य धरातल पर कोलकाता में हमारे सामने आए हैं उनसे साफ है कि भाजपा बंगाल व कोलकाता में बाहर से लोग लेकर आई ताकि रोड शो में संख्या दिख सके. वहां पर जो अंजाम दिया गया वह निंदनीय है अशोभनीय है.’’

पायलट ने इसके बाद आए प्रधानमंत्री के बयान की आलोचना करते हुए कहा, ‘‘उन्होंने ममता बनर्जी, उनकी पार्टी व नेताओं की तुलना कश्मीर में जो पत्थरबाज हैं उनसे की हैं, आप अंदाजा लगा सकते हैं कि देश के प्रधानमंत्री एक निर्वाचित मुख्यमंत्री की तुलना अलगाववादी विचारधारा के पत्थरबाजों से कर रहे हैं.’’

पायलट ने कहा कि इतिहास में पहली बार निर्वाचन आयोग जैसी प्रतिष्ठित संस्था को इतने सारे सवालों का जवाब देना पड़ रहा है. ‘निर्वाचन आयोग की भूमिका संदिग्ध हो गयी है.’ उपमुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा को बंगाल की हिंसा तो दिख रही है और उसकी वह निंदा कर रही है लेकिन रायबरेली से कांग्रेस की विधायक पर जो जानलेवा हमला हुआ उसकी एक बार भी भाजपा, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने निंदा नहीं की.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+