कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

बालाकोट हमले पर सरकार को ‘और तथ्य’ देने चाहिए, प्रधानमंत्री मोदी की प्रतिक्रिया समझ से परे: सैम पित्रोदा

सैम पित्रोदा ने कहा कि लोकतंत्र में आपको सवाल पूछने का हक है. बहस, चर्चा, संवाद और विमर्श करना अच्छा होता है.

इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के प्रमुख सैम पित्रोदा ने शुक्रवार को कहा कि सरकार को बालाकोट में वायुसेना की कार्रवाई के संदर्भ में ‘और तथ्यों’ के साथ सामने आना चाहिए.

उन्होंने यह भी कहा कि उनके एक कथित बयान पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रतिक्रिया समझ से परे है.

पित्रोदा ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘मैंने सिर्फ यही कहा है कि क्या हमें और तथ्य मिल सकते हैं. मुझे नहीं समझ रहा है कि इतना भ्रम क्यों बना हुआ है. लोकतंत्र में आपको सवाल पूछने का हक है. बहस, चर्चा, संवाद और विमर्श करना अच्छा होता है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘मेरे सवाल पूछने से जिस तरह की प्रतिक्रिया हुई है वो नहीं होनी चाहिए थी. यहां तक की प्रधानमंत्री के स्तर से प्रतिक्रिया नहीं होनी चाहिए थी. मेरी समझ से परे है.’’

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बालाकोट एयर स्ट्राइक पर पित्रोदा द्वारा कथित तौर पर सवाल किए जाने के बाद निशाना साधते हुए कहा कि सुरक्षाबलों को नीचा दिखाना विपक्ष की आदत है.

खबरों के मुताबिक पित्रोदा ने कहा था कि क्या हमने सच में हमला किया था? क्या सच में 300 आतंकी मारे गए थे? बाद में पित्रोदा ने सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने एक नागरिक की हैसियत से सवाल किया था.

उन्होंने कहा, ‘मैंने सिर्फ एक नागरिक के रूप में कहा कि मैं यह जानने का हकदार हूं कि क्या हुआ. मैं पार्टी की तरफ से नहीं, सिर्फ एक नागरिक के रूप में बोल रहा हूं. मुझे यह जानने का अधिकार है और इसमें क्या गलत है?’

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+