कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

नरम वैश्विक संकेतों और मुनाफ़ावसूली से सेंसेक्स शुरूआती कारोबारी में 350 अंक से अधिक गिरा

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 366.52 अंक यानी 0.96 प्रतिशत गिरकर 37,724.12 अंक पर आ गया।

रुपये की गिरावट, नरम वैश्विक संकेतों तथा विभिन्न समूहों में मुनाफावसूली से सेंसेक्स पिछले दो कारोबारी दिवसों की बढ़त खोकर सोमवार को शुरुआती कारोबार में 350 अंक से अधिक गिर गया।

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 366.52 अंक यानी 0.96 प्रतिशत गिरकर 37,724.12 अंक पर आ गया।

एक्सिस बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, एशियन पेंट, टाटा मोटर्स, एचडीएफसी और एचडीएफसी बैंक जैसी बड़ी कंपनियों में गिरावट ने सेंसेक्स को कमजोर किया। सेंसेक्स के ऊपर टिकाऊ उपभोक्ता उत्पाद, बैंकिंग, तेल एवं गैस तथा सार्वजनिक कंपनी समूहों में मुनाफावसूली ने भी दबाव डाला।

घरेलू संस्थागत निवेशकों की सतत खरीद के दम पर सेंसेक्स पिछले दो कारोबारी दिवसों में 677.51 अंक मजबूत हुआ था।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी शुरुआती कारोबार में 111.80 अंक यानी 0.97 प्रतिशत गिरकर 11,500 अंक से नीचे 11,403.40 अंक पर आ गया।

ब्रोकरों ने कहा कि निवेशकों ने सतर्कता बरती तथा पिछले कारोबारी दिवसों की तेजी के बाद मुनाफावसूली की जिससे शेयर बाजार कमजोर हुए। इसके अलावा रुपये की गिरावट तथा अधिकांश एशियाई बाजारों में चीन के 200 अरब डॉलर के अतिरिक्त आयात पर अमेरिका द्वारा शुल्क लगाने की खबरों के कारण नरमी रही। घरेलू शेयर बाजारों पर इनका भी दबाव रहा।

रुपया सोमवार को शुरुआती कारोबार में 81 पैसे गिरकर एक बार फिर से 72 रुपये प्रति डॉलर के स्तर से नीचे चला गया।

एशियाई बाजारों में शुरुआती कारोबार में हांग कांग का हैंग सेंग 1.87 प्रतिशत और चीन का शंघाई कंपोजिट 1.06 प्रतिशत गिरावट में रहा। जापान में सार्वजनिक अवकाश के कारण बाजार बंद रहे।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+