कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

नहीं, यह भारत में शुरू होने वाला नया ‘स्मार्ट’ पासपोर्ट नहीं है

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल

समान दावों के साथ, फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सएप्प पर एक संदेश वायरल है कि भारत में जल्दी ही डेबिट कार्ड जैसा नया ‘स्मार्ट’ पासपोर्ट शुरू होगा। यह संदेश इस प्रकार है, “यहां है भविष्य की एक नई पासपोर्ट परिकल्पना। प्रत्येक भारतीय नागरिक के लिए सुंदर ऑल-इन-वन परिचय समाधान बहुत शीघ्र। यह डेबिट/क्रेडिट कार्ड जैसा होगा। इसे स्वाइप कीजिए और बाहर जाइए।” -(अनुवाद)

इस स्मार्ट पासपोर्ट की प्रामाणिकता के बारे में लोगों ने आल्ट न्यूज़ से भी व्हाट्सएप्प पर पूछताछ की है।

क्या है सच्चाई?

आल्ट न्यूज़ ने इस तस्वीर को गूगल पर अपलोड करके ‘पासपोर्ट’ कीवर्ड के साथ खोज की। परिणाम में जो पहला लिंक सामने आया, वह मीडियम द्वारा प्रकाशित “पासपोर्ट — एक परिकल्पना” शीर्षक लेख का था।

यह लेख, इंजीनियर और डिज़ाइनर सिद्धांत गुप्ता द्वारा लिखा गया था, जिन्होंने पासपोर्ट का एक परिकल्पित-डिज़ाइन तैयार किया था जो पॉकेट-आकार के एटीएम कार्ड जैसा दिखता है। गुप्ता ने लिखा था, “बहुत ज्यादा सोचने के बाद, मैंने ठीक पासपोर्ट जैसा डिजाइन करने की कोशिश की। क्या होता, अगर हमारा पासपोर्ट एक बुकलेट की बजाय कार्ड होता, जो हमारे बटुए में आसानी से समा जाता और हम चिंतित नहीं रहते कि अंततः कोई पेज बाहर न आ जाए।”

उन्होंने इस डिजाइन में अपने नाम और तस्वीर का उपयोग किया, जिसे अब सोशल मीडिया में ‘शीघ्र शुरू होने वाले नए स्मार्ट पासपोर्ट’ के रूप में प्रसारित किया जा रहा है।

इस प्रकार के वायरल संदेश, एक सामान्य रिवर्स इमेज सर्च से खारिज किए जा सकते हैं। इसके अलावा, सोशल मीडिया यूजर्स  मीडिया की खबरों से ऐसी जानकारी की पुष्टि कर सकते हैं। इस बारे में किसी रिपोर्ट का नहीं होना, अपने-आप में पर्याप्त संकेत है कि यह संदेश गलत है।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+