कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

वोट के लिए मार दिए गए CRPF के जवान, जांच हुई तो फंसेंगे बड़े-बड़े लोग : रामगोपाल यादव

सीआरपीएफ के जवानों को सामान्य बसों में भेजा गया और वे मारे गए।

समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रमुख महासचिव प्रोफेसर रामगोपाल यादव ने पुलवामा हमले को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर बेहद गंभीर आरोप लगाते हुए गुरुवार को कहा कि वोट के लिए सीआरपीएफ के 40 जवानों को शहीद कर दिया गया। केंद्र में सरकार बदलने के बाद जब इसकी जांच होगी तब बड़े-बड़े लोग फंसेंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यादव के इस बयान को गैरजिम्मेदाराना करार दिया है।

यादव ने होली के मौके पर इटावा में आयोजित कार्यक्रम में पुलवामा हमले का जिक्र करते हुए कहा कि वोट बढ़ाने के लिए सीआरपीएफ के जवानों को मार दिया गया। उन्होंने कहा कि अर्धसैनिक बलों के लोगों ने शिकायत की है कि हम मांग करते रहे कि हमें हवाई जहाज से भेजा जाए मगर ऐसा नहीं किया गया।

सपा नेता ने कहा कि आमतौर पर हमारे जवान हवाई जहाज से जम्मू तक जाते हैं उसके बाद बख्तरबंद गाड़ियों से आगे बढ़ते हैं। यादव ने कहा कि पहली बार ऐसा हुआ जब कोई चेकिंग नहीं थी। पहली बार ऐसा हुआ जब सीआरपीएफ के जवानों को सामान्य बसों में भेजा गया और वे मारे गए।

उन्होंने कहा “यह साजिश थी। जब सरकार बदलेगी और उसकी जांच होगी तो आप देखना कि बड़े-बड़े लोग इसमें फंसेंगे। हमारे नौजवानों की जानें दिलवा दी, वोट पाने के लिए।”

यादव ने कहा “आपने देखा होगा कि सैनिकों की लाश आ रही थी और भाजपा के नेता हंस रहे थे। हमारे पास तो एक वीडियो ऐसा है जिसमें मुख्यमंत्री और उनके पास बैठे लोग हंस रहे थे। यह लोग मारीच हैं। यह कब अपना रूप बदल लें कुछ नहीं कहा जा सकता।”

इस बीच, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रामगोपाल के इस बयान की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि सपा नेता कि वह टिप्पणी तुष्टिकरण की पराकाष्ठा है। इस तरह के गैर जिम्मेदाराना बयान देश के बहादुर जवानों के विश्वास को डगमगाने की साजिश है।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+