कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

सर्वे: 52 प्रतिशत लोगों ने माना- सबसे बुलंद है “चौकीदार चोर है” का नारा, पिछड़ गया- “मैं भी चौकीदार”

 ट्विटर पर कराए गए इस सर्वे में 1 लाख 90 हजार से ज्यादा लोगों ने हिस्सा लिया था.

देश में आजकल दो नारे चर्चा में बने हुए हैं. पहला नारा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा दिया गया- “चौकीदार चोर है” का है तो दूसरा नारा प्रधानमंत्री मोदी और भारतीय जनता पार्टी द्वारा दिया गया “मैं भी चौकीदार” का है. इन दोनों नारों की लड़ाई में एक चौंकाने वाली बात सामने आई है कि देश में ज्यादातर लोग मानते हैं कि लोकसभा चुनाव में “चौकीदार चोर है” का नारा ज्यादा कारगर और प्रासंगिक है. एक सर्वे में इसका खुलासा हुआ है.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने ट्विटर के जरिए एक सर्वे किया था. इसमें उन्होंने सवाल पूछा था कि देश का मूड क्या है? इसमें दो विकल्प दिए गए थे. पहला विकल्प था- चौकीदार चोर है. दूसरा विकल्प था- मैं भी चौकीदार. इस सर्वे में कुल 1,94,520 लोगों ने हिस्सा लिया. इनमें से 52 प्रतिशत लोगों ने माना कि देश का मूड चौकीदार चोर है को समर्थन कर रहा है. वही मात्र 48 प्रतिशत लोगों ने “मैं भी चौकीदार” के पक्ष में वोट दिया.

बता दें कि राफ़ेल घोटाले पर प्रधानमंत्री मोदी को घेरने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने चौकीदार चोर है का नारा दिया है. इसके जवाब में भाजपा ने मैं भी चौकीदार का जुमला निकाला है. सोशल मीडिया पर इन दोनों नारों के समर्थकों का टकराव देखा जा रहा है.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+