कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

त्रिपुरा: भाजपा-आईपीएफटी गठबंधन में दरार, आईपीएफटी ने कहा- हमारे सहयोग के बिना सरकार नहीं बना सकती थी BJP

साल 2018 के विधानसभा चुनावों में 60 में से 44 सीटों पर जीत हासिल कर ये दोनों दल त्रिपुरा में सत्ता में आए थे.

त्रिपुरा के सत्तारूढ़ गठबंधन भाजपा और इंडिजनस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (आईपीएफटी) के बीच रार थमने का नाम नहीं ले रही. बुधवार को आईपीएफटी ने कहा कि भाजपा उसके समर्थन के बिना सरकार नहीं बना सकती थी.

आईपीएफटी के महासचिव और त्रिपुरा के आदिवासी कल्याण मंत्री मेवार कुमार जमातिया ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि भाजपा त्रिपुरा में आदिवासी पार्टी की समर्थन के कारण सत्ता में आई है. “यदि आईपीएफटी ने विधानसभा चुनावों में बीजेपी का समर्थन नहीं किया होता तो वे चुनाव में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सकते थे.”

उन्होंने कहा कि हमारे समर्थन के बिना बीजेपी यहां सरकार नहीं बना सकती थी. दरअसल, त्रिपुरा के भाजपा प्रमुख और मुख्यमंत्री बिप्लव कुमार देब ने अपने एक बयान में कहा था कि आईपीएफटी ने भाजपा के समर्थन और मोदी लहर के कारण आठ विधानसभा क्षेत्रों में जीत हासिल की है.

बता दें कि साल 2018 के विधानसभा चुनावों में 60 में से 44 सीटों पर जीत हासिल कर ये दोनों दल त्रिपुरा में सत्ता में आए थे.

इंडियन एक्सप्रेस की ख़बर के मुताबिक आईपीएफटी ने अपने उम्मीदवार शुक्लाचरण नोशिया का नामांकन रद्द होने का कारण गठबंधन सरकार को बताया है.

त्रिपुरा के राजस्व मंत्री और आईपीएफटी सुप्रीमो एनसी देबबर्मा ने कहा है कि राज्य सरकार द्वारा ‘ऑफिस ऑफ प्रॉफिट’ संबंधी नियम नहीं बनाए जाने के कारण आईपीएफटी उम्मीदवार शुक्लाचरण नोशिया की उम्मीदवारी रद्द हुई है. बता दें कि नोशिया आईपीएफटी के युवा बिग्रेड के महासचिव हैं. पार्टी ने पश्चिम त्रिपुरा निर्वाचन क्षेत्र से उन्हें उम्मीदवार बनाया था. 22 मार्च को नोशिया ने नामांकन पत्र दाख़िल किया था.

त्रिपुरा स्मॉल इंडस्ट्रीज कॉर्पोरेशन लिमिटेड में अध्यक्ष पद संभालने के कारण उनका नामांकन ‘ऑफिस ऑफ प्रॉफिट’ के तहत रद्द कर दिया गया था. बता दें कि त्रिपुरा में दो लोकसभा सीट पूर्वी त्रिपुरा और पश्चिमी त्रिपुरा है. जहां भाजपा और आईपीएफटी दोनों एक-दूसरे के ख़िलाफ़ चुनाव लड़ रहे हैं.

न्यूज़सेंट्रल24x7 को योगदान दें और सत्ता में बैठे लोगों को जवाबदेह बनाने में हमारी मदद करें
You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+