कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

नहीं, जफराबाद, यूपी में नाबालिग लड़की से छेड़छाड़ की घटना में आरोपी मुस्लिम समुदाय से नहीं

आल्ट न्यूज़ की पड़ताल

एक विचलित करने वाला वीडियो, जिसमें एक व्यक्ति दिन दहाड़े एक लड़की के साथ ज़बरदस्ती करता है और वहां पर मौजूद कई व्यक्ति इस छेड़खानी की घटना का वीडियो बना रहे हैं, इस वीडियो को सोशल मीडिया में अपराधी को मुस्लिम समुदाय का बताते हुए साझा किया गया है. ट्विटर उपयोगकर्ता ख़ुशी सिंह ने उपरोक्त वीडियो को इस संदेश के साथ साझा किया है –“शुद्ध आतंक. 2 शांतिप्रिय समुदाय के लोग एक लड़की को मार रहे हैं, उसके कपड़ों को फाड़ना चाहते हैं और शायद बलात्कार पर ही यह खत्म होगा  जगह:अज्ञात. इनको पकड़ने के लिए मदद करें और मेहरबानी करके रीट्वीट करने में शर्म मत महसूस करिये”-(अनुवाद). सिंह ने अपराधियों को “शांतिप्रिय” कह कर उनके कथित तौर पर मुस्लिम समुदाय से होने का दावा किया है. इन शब्दों का इस्तेमाल सोशल मीडिया में मुस्लिम समुदाय के लिए किया जाता है. इस लेख के लिखे जाने तक सिंह के इस ट्वीट को 300 लोगों ने रीट्वीट और 17,000 लोगों ने देखा है. हम वीडियो की संवेदनशीलता को देखते हुए इसका लेख में समावेश नहीं कर रहे हैं.

तथ्य जांच

ऑल्ट न्यूज़ ने पाया कि दोनों अपराधी मुस्लिम समुदाय से नहीं थे. यह घटना उत्तर प्रदेश के जफराबाद पुलिस स्टेशन के अधिकार क्षेत्र में हुई थी और पुलिस ने कल्लू और ह्रदय नाम के दो लोगों को गिरफ्तार भी किया है.

इस वीडियो क्लिप को साझा करने वाली ट्वीट के जवाब में, जौनपुर पुलिस ने शहर के पुलिस अधीक्षक द्वारा जारी बयान के एक वीडियो को पोस्ट किया है. मीडिया को संबोधित करते हुए, एसपी वीके मिश्रा ने कहा,“आज थाना जाफराबाद क्षेत्र के अंतर्गत एक गांव में एक नाबालिग लड़की को बुरी तरीके से मारने पीटने का एक वीडियो वायरल हुआ था. जिसमें वो बार बार चाटे से मार रहा है और प्रहार कर रहा है. इसमें आरोपित छट्टू उर्फ़ ह्रदय, जो कि कैलाश का बेटा है और कल्लू, गोमती के बेटे के खिलाफ FIR दर्ज की जा चुकी है. गांव में यह लड़की बकरी चलाने के लिए गई हुई थी और वहां पर वे अपनी मोटरसाइकिल से आ पहुंचे और उससे छेड़खानी करने लगे. दोनों लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है”.

इसके अलावा, एक यूपी-आधारित समाचार वेबसाइट Uttar Pradesh.orgने आरोपी की पहचान हृदय निषाद उर्फ ​​छट्टू निषाद और संदीप निषाद उर्फ ​​कल्लू निषाद के रूप में की है.

एसपी मिश्रा द्वारा ANI को दिए गए बयान में कहा है कि,“वायरल हुए एक वीडियो जिसमें दलित लड़के एक नाबालिग लड़की को मार रहा है और छेड़छाड़ कर रहा है. हमने इसका संज्ञान लेते हुए मामला दर्ज किया है”.

निष्कर्ष के तौर पर, यूपी के जौनपुर जिले में एक नाबालिग लड़की को प्रताड़ित करने के वीडियो को सांप्रदायिक दावे से साझा किया गया है कि मुस्लिम समुदाय के लड़कों द्वारा यह अपराध किया गया है. मध्य प्रदेश में एक आदिवासी महिला पर हुए एक हमले को सांप्रदायिक रूप से साझा किया गया था.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+