कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

शर्मनाक: वाराणसी में कैंसर के इलाज के लिए दर दर भटक रही पुलवामा हमले में शहीद जवान की मां

मालती देवी ने कहा कि मैं बार-बार ख़ुद से यहीं पूछती हूं कि क्या मेरे बेटे की शहादत का कोई मोल नहीं है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में शहीद की मां को कैंसर के इलाज के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है. वाराणसी के सर सुन्दरलाल अस्पताल में पुलवामा हमले में शहीद जवान अवधेश यादव की कैंसर पीड़िता मां मालती देवी पिछले कुछ दिनों से को दवा और जांच के लिए भटक रही हैं.

बता दें कि इससे पहले ये आदेश दिया गया था कि शहीदों के माता-पिता का इलाज नि:शुल्क किया जाएगा.

बोलता हिंदुस्तान की ख़बर के अनुसार, शहीद जवान की मां मालती देवी इलाज के लिए सुन्दरलाल अस्पताल पहुंची. लेकिन उन्हें दवा और जांच करवाने के लिए काफी तकलीफें उठानी पड़ी.

इस बात से आहत होकर शहीद की मां मालती देवी ने कहा कि जिसके बेटे ने देश के लिए जान गवा दी, उसकी मां के लिए बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी जैसे संस्थान में कोई हमदर्दी नहीं है.

मालती देवी ने कहा कि मैं बार-बार ख़ुद से यहीं पूछती हूं कि क्या मेरे बेटे की शहादत का कोई मोल नहीं है. साथ ही उन्होंने सवाल किया, “क्या हमारी सरकार शहीदों के परिवार के लिए ऐसा ही रवैया अपनाती रहेगी.”

उन्होंने दर्द बयां करते हुए कहा कि मुझे पहले की तरह अब भी कीमोथेरेपी कराने के लिए बीएचयू आना पड़ता है. दो दिन इंतजार करने के बाद इलाज होता है. लंबी लाइन लगने के बाद एक काउंटर से दूसरे काउंटर तक घूम-घूम कर मन दुखी हो जाता है.

ग़ौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री मोदी के देशभक्ति के तमाम दावों के बावजूद एक शहीद की मां इलाज के लिए आज भी दर-दर की भटकना पड़ रहा है.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+