कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

वायरल: झूठे संदेश के साथ मानसिक रूप से विकलांग व्यक्ति का पाक-समर्थक नारा लगाते हुए विडियो

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल

सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल है जिसमें भीड़ द्वारा पीटे जाने के बावजूद एक व्यक्ति पाकिस्तान-समर्थक नारे लगा रहा है. पाकिस्तान के एक ट्विटर यूजर असफंदयर भिट्टानी ने, यह बताते हुए कि वह व्यक्ति कश्मीरी है और उस पर “पाकिस्तान मुर्दाबाद” के नारे लगाने के लिए दबाव डाला जा रहा था, यह वीडियो ट्वीट किया.

लेखक और फिल्मकार विवेक अग्निहोत्री ने इस वीडियो का कोट-ट्वीट किया, जिसे यूजर @Raghav7286 ने दूसरे संदेश के साथ, यह कहते हुए शेयर किया- “भारत में नागरिकता के कुछ गंभीर मसले हैं. भगवान ही जानता है कि कौन किस देश से है.” यह लिखते समय, यह ट्वीट हटाया जा चुका है.

 

पाकिस्तान के एक सत्यापित ट्विटर हैंडल @Sisatpk ने यह वीडियो #PakistanZindabad हैशटैग के साथ ट्वीट किया था. इस ट्विटर हैंडल के परिचय में इसे “पाकिस्तान में राजनीतिक चर्चा का सबसे बड़ा मंच” बताया गया है, इसे 2400 से ज्यादा बार रिट्वीट किया गया है.

एक फेसबुक हैंडल हिंदुत्व युवा ने इसी व्यक्ति द्वारा पाकिस्तान-समर्थक नारे लगाते हुए कई वीडियो का सेट, इस संदेश के साथ शेयर किया है- “23/59 तिलक नगर 1st फ्लोर से कोई आदमी रोज पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाता है आज भी लगा रहा है।अब इसका क्या करना है ।आस पास के भाई लोग आप देखो।”

फेसबुक और ट्विटर पर कई दूसरे सोशल मीडिया यूजर्स ने, इस व्यक्ति के बारे में, जो रोज पाकिस्तान-समर्थक नारे लगाता है, यह वीडियो इसी भ्रामक संदेश के साथ शेयर किया है.

 

क्या है सच्चाई?

कई वीडियो में पाकिस्तान-समर्थक नारे लगाते हुए दिखलाई पड़ने वाले व्यक्ति को मानसिक रूप से बीमार बताया गया है. इंडिया टुडेद्वारा 28 फरवरी 2018 को प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, “गुरुवार को पुलिस ने बताया कि पश्चिम दिल्ली के तिलक नगर इलाके में कथित रूप से पाकिस्तान-समर्थक नारे लगाने के लिए, मानसिक रूप से बीमार एक व्यक्ति को कुछ लोगों द्वारा पीटा गया.” उस इलाके के निवासियों ने उस व्यक्ति को पाकिस्तान-समर्थक नारे लगाने के लिए पीटा था और बाद में पुलिस के हवाले कर दिया था. उपरोक्त रिपोर्ट में दिए गए पुलिस अधिकारियों के बयान के अनुसार, उस व्यक्ति के खिलाफ कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं कि गई, क्योंकि वह दो साल से मानसिक रूप से बीमार है. हमने दिल्ली पुलिस से इस बारे में आधिकारिक जानकारी के लिए संपर्क किया मगर अभी तक उनके जवाब का हमें इंतजार है.

निष्कर्षतः पाकिस्तान-समर्थक नारे लगाने वाले मानसिक रूप से बाधित एक व्यक्ति के वीडियो को अलग-अलग झूठे और अधूरे संदेशों के साथ शेयर किया जा रहा है.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+