कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

मुस्लिमों ने निकाला आत्मघाती हमलावर के अंतिम संस्कार का जुलूस? नहीं, सीरिया का पुराना वीडियो

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल.

“दुनिया का सबसे बड़ा विरोध न छूटे। एक आत्मघाती हमलावर को इजरायली बलों द्वारा गोली मार दी गई, मुसलमानों ने उसके शरीर को लिया और ‘निर्दोष मुस्लिम’ के लिए विरोध करना शुरू कर दिया। लेकिन वे नहीं जानते थे कि एक आत्मघाती बेल्ट अभी भी बॉम्बर के शरीर से बंधी थी जिसे वो ले जा रहे थे। आगे क्या हुआ, यह वीडियो में है।” (अनुवाद)

एक वीडियो के साथ यह संदेश, कई सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं ने साझा किया है। वीडियो 1:52 मिनट लंबा है और एक सड़क से गुज़रते अंतिम संस्कार के जुलूस को दिखाता है। थोड़ी देर बाद, विस्फोट होता है। वीडियो की अशांत करने वाली प्रकृति के कारण, ऑल्ट न्यूज़ इसे यहाँ अपलोड नहीं कर रहा। वीडियो का स्क्रीनशॉट नीचे पोस्ट किया गया है।

मुस्लिम हमलावर के मृत शरीर के साथ जुूलूस का सच

कई व्यक्तिगत उपयोगकर्ताओं ने इसी संदेश के साथ यह वीडियो साझा किया है।

मुस्लिम हमलावर के मृत शरीर के साथ जुूलूस का सच

ऑल्ट न्यूज़ ने पाया कि यह वीडियो मई 2018 में नमो मंत्रा : नेशन फर्स्ट नामक पेज से फेसबुक पर पोस्ट किया गया था।

मुस्लिम हमलावर के मृत शरीर के साथ जुूलूस का सच

यह व्हाट्सएप पर भी चल रहा है।

मुस्लिम हमलावर के मृत शरीर के साथ जुूलूस का सच

तथ्य-जांच

ऑल्ट न्यूज़ ने इनविड सॉफ्टवेयर का उपयोग करते हुए वीडियो को कई की-फ्रेमों में तोड़ा। फ्रेमों में से एक की रिवर्स सर्च करने से पता चला कि यह घटना 2012 में सीरिया में हुई थी। कई समाचार खबरों के अनुसार, दमिश्क के एक उपनगर ज़मालका की एक सड़क से गुज़र रहे एक अंतिम संस्कार जुलूस में एक विस्फोट हो गया था। विस्फोट का कारण कार बम था। लॉस एंजेल्स टाइम्स (LA Times) के अनुसार, लोग उस शहर के एक निवासी के सम्मान में इकट्ठा हुए थे, जो सरकारी सैनिकों द्वारा ज़माल्का पर हमला किए जाने के दौरान गोलियों से मारे गए थे। जुलूस के एक मस्जिद से गुज़रते समय कार बम विस्फोट हो गया।

मुस्लिम हमलावर के मृत शरीर के साथ जुूलूस का सच

सोशल मीडिया के इस दावे की तथ्यों के साथ पुष्टि नहीं होती, कि उस आत्मघाती हमलावर के मृत शरीर से जुड़ी एक आत्मघाती बेल्ट के कारण यह विस्फोट हुआ, जिसके लिए अंतिम संस्कार जुलूस आयोजित किया गया था। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, विचाराधीन वीडियो 2012 का है, और सीरिया के ज़मालका का है, जिसमें एक निवासी के अंतिम संस्कार के दौरान एक कार बम से विस्फोट हो गया।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+