कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

विवेक तिवारी के पुलिस द्वारा हत्या के मामले में पत्नी ने मांग की सीबीआई जांच की, कहा- भरोसा तोड़ दिया योगी सरकार ने

38 वर्षीय विवेक तिवारी लखनऊ में एप्पल कंपनी के सेल्स मैनेजर के पद पर थे।

“हम भरोसे के साथ भाजपा सरकार लेकर आए थे। जब योगी जी मुख्यमंत्री बने तो हम बहुत ख़ुश हुए थे।” यह कहना है कल्पना का जिनके पति विवेक तिवारी की लखनऊ पुलिस ने सरे राह गोली मार कर हत्या कर दी थी।

ग़ौरतलब है कि जब से उत्तर प्रदेश में योगीराज आया है तब से लेकर अब तक अनगिनत एनकाउंटर किए जा चुके हैं। हर बार पुलिस अधिकारी मारे गए लोगों को देश के लिए ख़तरा बता कर अपना पक्ष मज़बूत करती रही है। हर एनकाउंटर में मारे गए लोग उत्तर प्रदेश पुलिस के अनुसार ख़तरनाक अपराधी होते हैं।

इस घटना से चंद रोज़ पहले भी अलीगढ़ में पुलिस ने दो मुस्लिम युवकों को एनकाउंटर का जामा पहना कर उनकी हत्या कर दी थी और उनके परिवार वालों को डराया धमकाया भी था।

लेकिन, इस बार किए गए एनकाउंटर से उत्तर प्रदेश पुलिस का भांडा फूट चुका है। उसके पास अपने करतूतों का कोई जवाब नहीं है।

विवेक तिवारी की पत्नी कल्पना ने ख़बर एजेंसी एएनआई के साथ बात करते हुए कहा कि आला अधिकारी इस मामले में लिपापोती करने में लगे हुए हैं।

ज्ञात हो कि 38 वर्षीय विवेक तिवारी लखनऊ में एप्पल कंपनी के सेल्स मैनेजर के पद पर थे। उनकी पत्नी कल्पना की मांग है कि वह तब तक अपने पति का अंतिम संस्कार नहीं करेंगी जब तक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उनसे मिलकर उनके सवालों का जवाब नहीं देते हैं। वे चाहती हैं कि इस मामले की सीबीआई द्वारा निष्पक्ष जांच होनी चाहिए।    

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+