कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

गुजरात में एक मस्जिद से हथियार बरामद? पुरानी तस्वीरें झूठे दावे से वायरल

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल.

गुजरात में एक मस्जिद से पकड़े गये हथियार:- आखिरकार ये मुस्लिम करना क्या चाहते हैं?? वैसे देशभर में मस्जिदों
की चेकिंग की जाए तो ऐसे ही हथियार मिलेंगे?

उपरोक्त संदेश को सोशल मीडिया में व्यापक रूप से कुछ हथियारों की तस्वीरों के साथ साझा किया गया है, जिसमें ज़्यादातर तलवारें और चाकू दिख रही है। इसके साथ हथियारों को गुजरात की एक मस्जिद में से प्राप्त करने का दावा किया गया है।

उपरोक्त पोस्ट फेसबुक ग्रुप R.S.S (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ) में साझा की गई है। इसे अन्य कई व्यक्तिगत उपयोगकर्ताओं ने अपनी टाइमलाइन पर भी साझा किया है।

इन तस्वीरों को ट्विटर पर भी इसी संदेश के साथ साझा किया जा रहा है।

सच क्या है?

ऑल्ट न्यूज़ ने इनमें से एक तस्वीर को गूगल पर रिवर्स सर्च किया और हमें मार्च 2016 को प्रकाशित एक न्यूज़ पोर्टल गुजरात हैडलाइन का लेख मिला। इस लेख के मुताबिक, इन हथियारों को गुजरात के राजकोट की एक दुकान से ज़ब्त किया गया था। संबधित की-वर्ड्स और टाइम फ़िल्टर के प्रयोग से, हमें इस घटना से जुड़े कुछ अन्य लेख मिले।

6 मार्च, 2016 को प्रकाशित टाइम्स ऑफ़ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, राजकोट क्राइम ब्रांच ने अहमदाबाद-राजकोट हाईवे पर एक होटल से अवैध हथियारों के एक रैकेट का पर्दाफाश किया था। इंडिया पैलेस होटल से तलवार और चाकू सहित 250 से अधिक घातक हथियारो को जब्त किया गया था। इस छापेमारी में होटल के मालिक सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया था। ऐसा ही गुजरात के समाचारपत्र दिव्य भास्कर ने भी प्रकाशित किया था।

ये तस्वीरें झूठे दावों से पहले भी प्रसारित

इन तस्वीरों को सोशल मीडिया में पहले भी प्रसारित किया गया था। मधु किश्वर जो पहले भी अपने ट्विटर अकाउंट से गलत जानकारियों को साझा करती रही है, उन्होंने इन तस्वीरों के साथ झूठा दावा साझा किया था कि राजकोट की एक मस्जिद से इन हथियारों को बरामद किया गया है।

यह ध्यान देने योग्य है कि इन तस्वीरों को मार्च 2016 में लिया गया था। इसके अलावा, इन हथियारों को राजकोट हाईवे पर मौजूद एक होटल से बरामद किया गया था, ना की झूठे दावे के मुताबिक मस्जिद से।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+