कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

पश्चिम बंगाल में पाकिस्तानी झंडा? नहीं, यह भारतीय मुसलमानों द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला धार्मिक ध्वज है

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल

कथित रूप से पाकिस्तानी राष्ट्रीय झंडों से सजी सड़कों की तस्वीरों का संग्रह व्हाट्सएप पर प्रसारित किया गया है। दावा किया गया कि ये झंडे पश्चिम बंगाल के कोलकाता में फिरहाद हकीम के हाल ही में मेयर चुने जाने के जश्न में लगाए गए थे।

फेसबुक यूजर दिलीप सिंह ने तस्वीरों इन को एक खतरनाक संदेश के साथ पोस्ट किया, “कोलकाता में फ़िरहाद हकीम के मेयर बनने पर कोलकाता में पाकिस्तानी झंडे के साथ जश्न मनाया गया। हिंदुओं के लिए यह खतरे की घंटी।” इस लेख के लिखे जाने तक, उनके पोस्ट को करीब 900 से ज्यादा शेयर मिले थे।

उन्हीं तस्वीरों के साथ वैसे ही दावे ट्विटर और फेसबुक पर सोशल मीडिया यूजर्स द्वारा भी ट्वीट किए गए।

पाकिस्तानी झंडा नहीं

जैसा कि नीचे दी गई दो तस्वीरों की तुलना में दिखता है, सोशल मीडिया यूजर्स ने सामान्य धार्मिक ध्वज को पाकिस्तान का राष्ट्रीय ध्वज बताकर भ्रमित कर दिया। दाईं तरफ की तस्वीर में, जो कि पाकिस्तानी ध्वज है, उसमें बाईं ओर सफेद पट्टी है और ध्वज के गहरे हरे रंग वाले हिस्से में चंद्रमा और सितारा है।

कई बार यही गलत दावा

ऑल्ट न्यूज़ ने पहले भी कई उदाहरणों का वर्णन किया है, जब मुस्लिम समुदाय द्वारा धार्मिक प्रतीक के रूप में लोकप्रिय रूप से उपयोग किया जाने वाला यह सामान्य ध्वज सोशल मीडिया पर पाकिस्तान के राष्ट्रीय ध्वज के रूप में चलाया गया था (1,2,3,4)।

हाल ही में, कांग्रेस नेता अशोक गहलोत का भी भाषण देते हुए एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसके बैकग्राउंड में पाकिस्तानी झंडा होने का झूठा दावा किया गया था।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+