कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

Exclusive: क्या युवा कांग्रेस नेताओं ने अवैध मस्जिद ध्वस्त करने के लिए अजमेर कलेक्टर को पत्र लिखा? जानें सच्चाई

यह पत्र सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रहा है.

“मुस्लिमों ने हाल के आम चुनावों में हर जगह कांग्रेस के गधे को बचाया है, लेकिन पार्टी के सदस्यों को अजमेर में मस्जिदों के निर्माण में समस्या है(अनुवाद). ऐसा ही एक संदेश @tamashbeen ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया. लगातार किए गए दो ट्वीट में इंडियन यूथ कांग्रेस, ब्यावर(राजस्थान) के अध्यक्ष चंदेर शेखर शर्मा और अजमेर जिलाध्यक्ष शम्भु यादव के द्वारा अजमेर कलेक्टर को लिखे आधिकारिक पत्र को जोड़ा गया है. पत्र का विषय है- अजमेर ज़िले में अवैध बन रही मस्जिदों को धवस्त कराकर ज़िले में सांप्रदायिक सद्भाव बनाए रखने बाबत्.

आधिकारिक पत्र में जिला कलेक्टर को आग्रह किया गया है, “आपके आने के बाद 4-5 महीने में अवैध मस्ज़िदों(…) का निर्माण धड़ल्ले से हो रहा है. इस संबंध में पूर्व में भी आपको अवगत कराया गया है. लेकिन अवैध मस्जिदों का निर्माण लगातार बढ़ रहा है. जिससे सर्व हिंदू समाज में रोष व्याप्त है.”

पत्र में आगे अवैध मस्जिदों को तुरंत हटाने की मांग की गई है ताकि सर्व समाज में भाईचारा और राष्ट्रभाव बना रह सके.

Youth Congress Letter Mosque Demolition Ajmer Rajasthan

इस संदेश को कई लोगों ने अपने ट्विटर एकाउंट से शेयर किया है. एक ट्विटर उपयोगकर्ता ने लिखा- एक बार नही हजार बार कहूंगा. प्रत्यक्ष को प्रमाण की जरूरत नहीं है,कांग्रेस मुस्लिम विरोधी है.

सच्चाई क्या है?

न्यूज़सेन्ट्रल24×7 ने इस वायरल पत्र की सच्चाई जानने के लिए सीधे कांग्रेस अजमेर जिलाध्यक्ष शम्भु यादव को फ़ोन लगाया. उन्होंने बताया, “यह लेटर पैड ज़रूर मेरा है. लेकिन इस पर मेरे हस्ताक्षर नहीं है. और यह बिल्कुल झूठा लिखा गया है. मुझे मालूम नहीं कि इस लेटर पैड को किस बदनीयती से चुराया गया है. लेकिन मुझे कुछ देर पहले ही जानकारी मिली कि आपका कोई लेटर वायरल हो रहा है. मैं इस वक्तव्य को पूरी तरीके से खंडन करता हूं. कांग्रेस हमेशा सद्भावना वाली पार्टी रही है.”

Youth Congress Letter Mosque Demolition Ajmer Rajasthan
जिलाध्यक्ष शंभु यादव द्वारा जारी किया गया खंडन पत्र

पत्र के वायरल होने पर शंभु यादव के द्वारा इस बात का खंडन के लिए एक आधिकारिक पत्र भी जारी किया गया है. जिसमें उन्होंने कहा है कि “किसी व्यक्ति ने धार्मिक आस्था को आहत करने वाला संदेश वायरल कर दिया है. मैं इस पत्र का खंडन करता हूं. उस पर मेरे हस्ताक्षर नहीं है. ना ही वो मेरे द्वारा लिखा गया है और न ही लिखवाया गया है.”

इंडियन यूथ कांग्रेस, ब्यावर(राजस्थान) के अध्यक्ष चंदेर शेखर शर्मा ने भी आधिकारिक पत्र जारी कर वायरल पत्र का खंडन किया है.

 Youth Congress Letter Mosque Demolition Ajmer Rajasthan

न्यूज़सेन्ट्रल24×7 ने इस संदर्भ अजमेर कलेक्टर से भी संपर्क करने की कोशिश की. लेकिन  बात नहीं हो पाई. बात होने की स्थिति में स्टोरी को अपडेट किया जाएगा.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+